Breaking News उत्तर प्रदेश राज्य

India aajtak tv live शिक्षा 2020- 2021 देश पर मंडराते संकट के बादल

ad-1
ad-1

*शिक्षा 2020- 2021 देश पर मंडराते संकट के बादल*

कोविड-19 महामारी ने पूरे जन जीवन को बेहाल कर रखा है व्यापार एवं उद्योग धंधे प्रभावित हैं 75% रोजी रोजगार की स्थिति दयनीय है जनमानस बहुत ही परेशान है कोरोना का कहर जारी है छोटे बड़े रोजी-रोटी चलाने वाले व्यक्ति बहुत ही परेशान हैं और शैक्षिक शिक्षा 20-21के लिए बच्चे एवं उनके अभिभावकों को बहुत परेशानियां हैं जेब में पैसे नहीं है सरकार ऑनलाइन शिक्षा देने की बात कर रही है शहर में रहने वाले अभिभावकों के बच्चे ही इस से जुड़ कर खानापूर्ति कर रहे हैं लेकिन गांव में अभिभावक गरीबी एवं लाचारी के कारण ऑनलाइन शिक्षा नहीं दिलवा सकते हैं और ऐसी व्यवस्था हाई स्कूल से लेकर उच्च शिक्षा तक ज्यादा से ज्यादा25 से 30 प्रतिश होगी न्यूनतम कक्षा 5 6 7 8 के बच्चे ऑनलाइन शिक्षा से एकदम अछूते हैं शहर के स्कूलों में पढ़ने वाले अधिकांश छात्र/छात्राएं देहात से संबंधित है उसमें भी कुछ प्रदेश में परिवार के साथ रहकर छोटे-छोटे रोजगार और नौकरी करने वाले लोग परिवार सहित अपने गांव आ गए हैं जिससे शहर के स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों की संख्या घट गई है जेब खाली है तो ऑनलाइन शिक्षा के लिए साधन हीन है और अभिभावको का कहना है कि जब स्कूल बंद है तो ऑनलाइन पढ़ाई कैसे होगी फीस कहां से दूं सत्र 20- 21छठे माह में प्रवेश करने जा रहा है समय बहुत कम रह गया है सरकार ने कक्षा 10 से 12 तक के बच्चों के प्रवेश रजिस्ट्रेशन तथा बोर्ड परीक्षा की प्रक्रिया के लिए तारीखें निश्चित कर दी है कक्षा 10 और 12 के लिए 5 अगस्त और तथा कक्षा 9 तथा 11 के लिए 25 अगस्त अंतिम तिथि है कोरोना महामारी के चलते हर अभिभावक आर्थिक तंगी से झेल रहा है लेकिन सरकार द्वारा इस महामारी से झेल रही जनता को गेहूं चावल चना दे कर सरकार गरीबों का पेट भर रही है जेब भरने के लिए सरकार की विभिन्न योजनाएं चल रही है और संचालित करने के लिए बैंकों से रीड दे रही है सरकार का प्रयास जारी है लेकिन उसका धरती पर कोई असर नहीं दिख रहा है गांव एवं शहर के लोग परेशानियां झेल रहे हैं इस महामारी के द्वारा समाज में अशिक्षा एवं गरीबी आ सकती है

* शिक्षा वह शेरनी का दूध है,जो पियेगा वह दहाड़ेगा*

इंडियाआज तक टीवी लाइव ब्लॉक रिपोर्टर राजकुमार बदलापुर जौनपुर